Published On: Sat, Aug 14th, 2021

जांच के लिए टीम गठित, अधीक्षक से जवाब तलब


ख़बर सुनें

बाराबंकी। एंबुलेंस न मिलने से हुई गर्भवती की मौत मामले की जांच एसीएमओ के नेतृत्व में गठित की टीम करेगी। सीएमओ ने इस मामले में सीएचसी जैदपुर के अधीक्षक से भी जवाब तलब किया है।
जैदपुर क्षेत्र के मीनापुर मजरे मौथरी निवासी मनोरथ अपनी पत्नी श्रीमती (32) को प्रसव पीड़ा पर बृहस्पतिवार को सीएचसी ले गया था। जहां हालत गंभीर होने पर जिला महिला अस्पताल रेफर किया गया। मनोरथ की माने तो एंबुलेंस के लिए फोन कॉल की गई लेकिन एक घंटा बीत जाने के बाद भी एंबुलेंस नहीं मिली। जिस एंबुलेंस को भेजने की बात कही जा रही थी वह अस्पताल के बाहर खड़ी थी।
जब परिवारीजनों ने चालक से बात की तो उसने बताया कि एंबुलेंस में डीजल ही नहीं है। यह सुन परिवारीजनों के होश उड़ गए और वह निजी वाहन की तलाश में जुट गए लेकिन तब तक गर्भवती की मौत हो चुकी थी। अमर उजाला ने इस खबर को शुक्रवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिलाधिकारी ने खबर का संज्ञान लेते हुए सीएमओ को दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।
सूत्र बताते हैं कि इस मामले में एंबुलेंस कंपनी की लापरवाही उजागर हुई है। इसको लेकर कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी गई है। सीएमओ डॉ. रामजी वर्मा ने बताया कि एंबुलेंस न मिलने से गर्भवती की मौत मामले में एसीएमओ के नेतृत्व में जांच टीम गठित कर दी गई है। सीएचसी अधीक्षक की लापरवाही पाए जाने पर जवाब तलब किया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जो भी दोषी मिलेगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बाराबंकी। एंबुलेंस न मिलने से हुई गर्भवती की मौत मामले की जांच एसीएमओ के नेतृत्व में गठित की टीम करेगी। सीएमओ ने इस मामले में सीएचसी जैदपुर के अधीक्षक से भी जवाब तलब किया है।

जैदपुर क्षेत्र के मीनापुर मजरे मौथरी निवासी मनोरथ अपनी पत्नी श्रीमती (32) को प्रसव पीड़ा पर बृहस्पतिवार को सीएचसी ले गया था। जहां हालत गंभीर होने पर जिला महिला अस्पताल रेफर किया गया। मनोरथ की माने तो एंबुलेंस के लिए फोन कॉल की गई लेकिन एक घंटा बीत जाने के बाद भी एंबुलेंस नहीं मिली। जिस एंबुलेंस को भेजने की बात कही जा रही थी वह अस्पताल के बाहर खड़ी थी।

जब परिवारीजनों ने चालक से बात की तो उसने बताया कि एंबुलेंस में डीजल ही नहीं है। यह सुन परिवारीजनों के होश उड़ गए और वह निजी वाहन की तलाश में जुट गए लेकिन तब तक गर्भवती की मौत हो चुकी थी। अमर उजाला ने इस खबर को शुक्रवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिलाधिकारी ने खबर का संज्ञान लेते हुए सीएमओ को दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

सूत्र बताते हैं कि इस मामले में एंबुलेंस कंपनी की लापरवाही उजागर हुई है। इसको लेकर कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी गई है। सीएमओ डॉ. रामजी वर्मा ने बताया कि एंबुलेंस न मिलने से गर्भवती की मौत मामले में एसीएमओ के नेतृत्व में जांच टीम गठित कर दी गई है। सीएचसी अधीक्षक की लापरवाही पाए जाने पर जवाब तलब किया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जो भी दोषी मिलेगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!