Published On: Mon, Mar 22nd, 2021

नरेश टिकैत बोले- किसानों के मान-सम्मान के लिए सरकार के खिलाफ चल रही लड़ाई


Highlights

– अमरोहा में हुई महापंचायत में भाजपा सरकार पर नरेश टिकैत ने बोला हमला

– भाजपा सरकार पर लगाया किसानों की बेइज्जती करने का आरोप

– गाजीपुर बॉर्डर से खाली हाथ लौटे तो आने वाली पीढ़ी कभी माफ नहीं करेगी

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अमरोहा. जहां गाजीपुर बॉर्डर (Ghaziapur Border) पर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) जारी है। वहीं, भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत (Naresh Tikait) कृषि कानूनों के विरोध में जगह-जगह किसानों की महापंचायत कर अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए प्रयासरत हैं। इसी कड़ी में नरेश टिकैत ने मंडी धनौरा के शहजादपुर गांव में किसानों की महापंचायत को संबोधित कर भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर हमला बोला है। इस दौरान मंच सं संबोधित करते हुए टिकैत ने कहा कि यदि हम गाजीपुर बॉर्डर से खाली हाथ लौटे तो आने वाली पीढ़ी कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि किसानों के मान-सम्मान के लिए सरकार के खिलाफ लड़ाई चल रही है। वहीं, सरकार किसानों को बेइज्जत करने का कार्य कर रही है।

यह भी पढ़ें- किसानों के लिए फायदेमंद है ‘यूपी एफपीओ शक्ति’ पोर्टल, जानें इससे क्या होंगे फायदे, एक जगह मिलेगी सारी जानकारी

इस दौरान भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि हमने बड़ी उम्मीदों के साथ भाजपा की सरकार बनाई थी, लेकिन अब सरकार अपना असली चेहरा दिखा रही है। उन्होंने कहा कि किसानों से बात किए बगैर कृषि कानून लागू किए गए हैं। उन्होंने कहा कि लंबी वार्ता के बाद भी सरकार ने हमारी मांगे नहीं मानी हैं। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन में करीब 300 किसान शहीद हुए हैं, लेकिन पीएम मोदी ने उनके लिए एक शब्द भी नहीं कहा। किसानों को आतंकी और न जाने क्या कहा जा रहा है। अब किसान सरकार को औकात दिखाएंगे।

टिकैत ने इस दौरान गाजीपुर बॉर्डर पर हर गांव से आठ-दस किसानों के पहुंचने की अपील की। उन्होंने कहा कि किसान एकता की वजह से ही भाजपा के नेता ग्रामीणों से डरे हुए हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी भाजपा जनप्रतिनिधि गांव आएं तो उनसे कृषि कानूनों पर सीधा सवाल किया जाए। किसी भी स्थित में कृषि कानूनों को स्वीकार नहीं किया जाएगा। वहीं, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विजयपाल सिंह ने कहा कि यूपी की भाजपा सरकार किसानों की आय दोगुनी होने की बात कह रही है। जबकि सच्चाई ये है कि चार सालों में गन्ने के मूल्य में एक रुपया भी नहीं बढ़ाया गया है।

यह भी पढ़ें- तेज आंधी से तैयार मटर की फसल नष्ट, महोबा में बौखलाए किसान ने आत्महत्या की







Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!