Published On: Mon, May 24th, 2021

पूर्णिया कांड : अनुसूचित जाति आयोग की टीम पहुंची मझुआ गांव, BJP के MLC ने अपनी ही सरकार और प्रशासन को कोसा


हाइलाइट्स

  • अनुसूचित जाति आयोग की टीम पहुंची पूर्णिया के मझुआ गांव
  • BJP के MLC ने अपनी ही सरकार और प्रशासन को कोसा
  • प्रशासन की नाकामी के कारण ही इतनी बड़ी वारदात अंजाम दी गई- दिलीप जायसवाल
  • आयोग को जल्द ही भेजी जाएगी मझुआ कांड की डिटेल रिपोर्ट

पूर्णिया:
पूर्णिया कांड के बाद इलाके में लगातार तनाव पसरा हुआ है। बायसी थाना के मझुआ गांव 19-20 मई की दरमियानी रात एक समुदाय विशेष के सैकड़ों उपद्रवियों ने महादलितों की बस्ती को घेरकर आग के हवाले कर दिया था। इस हिंसक घटना में भीड़ ने 13 महादलितों के घर जला डाले थे, जबकि एक रिटायर्ड चौकीदार की पीट पीटकर हत्या कर दी गई थी। आरोप है कि उपद्रवियों ने इस दौरान महिलाओं और बच्चों को भी नहीं बख्शा और रेप जैसी जघन्य वारदात को भी अंजाम दिया है।

अनुसूचित जाति आयोग पहुंचा मौके पर
मझुआ कांड को लेकर अनुसूचित जाति आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष समेत कई नेता मौके पर पहुंच गए हैं। टीम ने घटना के आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।स्थानीय निवासी बता रहे हैं कि जमीन को लेकर पहले भी 2015 में इसी तरह की वारदात हुई थी। तब से लेकर वहां 2018 तक पुलिस कैंप रहा और फिर बाद में इसे हटा दिया गया। इसी 24 अप्रैल को भी एक घर में आग लगाकर महादलितों की पिटाई की गई थी। पीड़ितों ने थाने में FIR भी दर्ज कराई लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसी वजह से समुदाय विशेष के लोगों ने ये दुस्साहस तक कर दिया।
Purnia News: उग्र भीड़ ने महादलितों की बस्ती पर किया हमला, घरों में लगाई आग, पूर्व चौकीदार की पीट-पीटकर कर दी हत्या

एससी/एसटी आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष औप बनमनखी विधायक कृष्ण कुमार ऋषि, बीजेपी एमएलसी दिलीप जायसवाल और एआईएमआईएम के बायसी के विधायक सैय्यद रुकनुद्दीन ने घटना स्थल पर पहुंचकर पीड़ितों से बात की।

आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा कि यह बहुत दुखद, अमानवीय और क्रूर वारदात है। उन्होंने कहा कि कि प्रशासन ने अभी तक सिर्फ दो लोगों को गिरफ्तार कर खानापूर्ति की है। जबकि इस मामले में दो अलग अलग FIR दर्ज कर 60 नामजद और एक सौ अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।
पूर्णिया कांड: महादलितों की बस्ती में आगजनी और हत्या पर गरमाई सियासत, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने लिया ये ऐक्शन
आयोग को भेजी जाएगी विस्तृत रिपोर्ट
उन्होंने कहा कि वह इसकी रिपोर्ट आयोग को भेजेंगे और जल्द पीडि़त परिवारों को मुआवजा देने के लिये सरकार से कहेंगे। वही एमएलसी दिलीप जायसवाल ने अपनी ही सरकार और उनकी पुलिस को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि प्रशासन की नाकामी के कारण ही इतनी बड़ी वारदात अंजाम दी गई।

उधर बायसी में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) के विधायक सैय्यद रुकनुद्दीन ने कहा कि यहां शुरू से गंगा-जमुनी तहजीब के तहत हिन्दू-मुस्लिम एक साथ रहते हैं। लेकिन ये कुछ अपराधियों की घृणित करतूत है। पूर्णिया में जिस तरह महादलित महिलाओं के साथ अमानवीय घटना को अंजाम दिया गया वो शर्मसार करने वाली है और इसमें पुलिस की नाकामी भी साफ झलक रही है।
Bihar News: हैंडपंप से दलित युवक ने पिया पानी तो दबंगों ने लाठी-डंडों से पीटा, इलाज के दौरान मौत के बाद बढ़ा बवाल
ये हुआ है पूर्णिया में
19 मई को एक झड़प के बाद पूर्णिया के बायसी प्रखंड के नियामतपुर मझुआ गांव में गांव के सेवानिवृत्त चौकीदार मेवालाल राय की बेरहमी से हत्या कर दी गई। इसके बाद उपद्रवियों ने 13 घरों को जला दिया था और कई लोगों के साथ मारपीट की गई थी। इस पूरे केस में तीन अलग-अलग FIR दर्ज की गई है और अभी तक दो नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी पुलिस कर चुकी है।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!