Published On: Fri, Sep 25th, 2020

बिहार एक बार फिर बाढ़ की चपेट में, भारी बारिश और वज्रपात की चेतावनी


(Bihar News ) पूर्वी उत्तर प्रदेश के मध्य की (Flood situation in Bihar ) ओर समुद्र तल से 5.8 किमी की ऊंचाई पर कम दबाव के चक्रवाती (Bihar on high alert ) स्थिति बनी हुई है। इसके अगले दो दिन ( warning of heavy rain-lightning ) पूर्व और उत्तर पूर्व की ओर बढऩे के आसार हैं। इसके प्रभाव (Rivers rising in Bihar ) से पूरे बिहार में मानसून के अति सक्रिय रहने के (Monsoon active in Bihar ) आसार हैं।

समस्तीपुर(बिहार): (Bihar News ) पूर्वी उत्तर प्रदेश के मध्य की (Flood situation in Bihar ) ओर समुद्र तल से 5.8 किमी की ऊंचाई पर कम दबाव के चक्रवाती (Bihar on high alert ) स्थिति बनी हुई है। इसके अगले दो दिन ( warning of heavy rain-lightning ) पूर्व और उत्तर पूर्व की ओर बढऩे के आसार हैं। इसके प्रभाव (Rivers rising in Bihar ) से पूरे बिहार में मानसून के अति सक्रिय रहने के (Monsoon active in Bihar ) आसार हैं। खास तौर पर उत्तर बिहार के 15 जिलों में और गंगा नदी से सटे जिलों में एक-दो स्थानों पर भी भारी बारिश की (Heavy rain waring in 15 districts) आशंका है। मौसम विभाग ने राज्य भर के लोगों को चेतावनी जारी कर कहा है कि मौसम खराब होने की स्थिति में सतर्कता बरतें और घर से बाहर न निकलें।

भारी बारिश व वज्रपात की चेतावनी
इसी के साथ मौसम विभाग, पूर्वी बिहार, सीमांचल और कोसी के अधिकांश जिलों में भारी बारिश के साथ वज्रपात का अलर्ट जारी किया है। ऐसी स्थिति में इन जिलों के लोगों को घरों में ही रहने की सलाह दी गई है। गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों से नेपाल में हो रही लगातार बारिश के कारण गंडक, बूढ़ी गंडक, कमला बलान जैसी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश होने के कारण इन नदियों के जलस्तर में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही ह।ै और इन नदियों की जद में आने वाले कई गांवों में बाढ़ का पानी एक बार फिर से घुसने लगा है।

नदियों से बाढ़ का खतरा
पिछले तीन दिनों से जारी बारिश से उत्तर बिहार से गुजरने वाली नदियां ऊफान पर हैं। इससे उत्तर बिहार के जिलों में एक बार फिर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। गंडक, बूढ़ी गंडक, बागमती समेत अन्य नदियों का जलस्तर बढऩे से निचले इलाकों में पानी फैलने लगा है। वाल्मीकिनगर एसएसबी कैंप में गंडक का पानी प्रवेश कर गया है। वहीं बागमती व लालबकेया का पानी बढऩे से मोतिहारी- शिवहर मेन रोड पर आवागमन ठप हो गया है।

बागमती में बढ़ोतरी
बागमती के जलस्तर में दोबारा बढ़ोतरी होने से एक बार फिर कल्याणपुर प्रखंड में बाढ़ की आशंका उत्पन्न हो गयी है। अचानक नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी से जहां निचले इलाके के खेत व खलिहान में पानी प्रवेश करने लगा हे वहीं कुछ जगह सड़क पर पानी आ जाने से आवागमन की भी समस्या उत्पन्न हो गयी है।

हाई अलर्ट जारी
मौसम विज्ञान केंद्र (पटना) ने जिन जिलों के लिए खास तौर पर अलर्ट जारी किया है, उनमें पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चंपारण, शिवहर, सीवान, गोपालजंग, सीतामढ़ी, सुपौल, दरभंगा, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, समस्तीपुर, कटिहार, पूणिज़्या, मुजफ्फरपुर और पटना एवं उसके आसपास के इलाके शामिल हैं। मौसम विभाग ने 25 सितंबर यानी शुक्रवार के लिए ऑरेंज अलर्ट और 26 सितंबर यानी शनिवार के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग से जारी हाई अलर्ट में कहा गया है कि जान-माल को भारी नुकसान पहुंच सकता है।
















Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!