Published On: Thu, Aug 26th, 2021

बिहार ‘रेशम एवं वस्त्र संस्थान’ नाथनगर के बहुरेंगे दिन, सिल्क टेक्नोलॉजी में चार वर्षीय बीटेक कोर्स की शुरू होगी पढ़ाई


हाइलाइट्स

  • भागलपुर सिल्क सिटी की रेशमी चमक को वापस लाने की कोशिश
  • जल्द शुरू होगी टेक्सटाइल्स से जुड़े तीन बीटेक कोर्स की पढ़ाई
  • 4 वर्षीय तीन अलग अलग B.Tech कोर्स शुरू करने की तैयारी
  • संसाधन के अभाव मे 1994 के बाद बंद हो गई थी बीटेक की पढ़ाई

भागलपुर।
भागलपुर सिल्क सिटी की रेशमी चमक को वापस लाने की दिशा मे तेजी से काम किया जा रहा है। लगभग 10 एकड़ क्षेत्र में फैले संस्थान के दिन अब जल्द ही बदलने वाले हैं। बता दें कि इस संस्थान मे 1994 तक बीटेक की पढ़ाई होती थी, लेकिन संसाधन के अभाव मे 2005 से दो वर्षीय वोकेशनल कोर्स शुरू किया गया था, लेकिन वह भी संसाधनों की कमी के कारण बंद कर दिया गया।

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने गुरुवार को दिल्ली में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात कर भागलपुर के नाथनगर स्थित बिहार रेशम एवं वस्त्र संस्थान में 4 वर्षीय तीन अलग अलग बी. टेक कोर्स शुरू करने के विषय पर बात की है। गौरतलब है कि भागलपुर के नाथनगर में स्थित बिहार रेशम एवं वस्त्र संस्थान, रेशम और वस्त्र प्रक्षेत्र का बिहार का एकमात्र उच्च स्तरीय तकनीकी संस्थान है। उद्योग विभाग द्वारा चलाए जा रहे इस संस्थान में पहले 4 वर्षीय बीटेक की पढ़ाई होती थी।

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन अब इस संस्थान में Silk Technology, Textile Technology और Textile Chemistry में 4 वर्षीय B.Tech कोर्स शुरू कराने के लिए प्रयास कर रहे है। इसी के तहत उन्होंने केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात कर मांग की है कि भागलपुर के नाथनगर स्थित बिहार रेशम एवं वस्त्र संस्थान में सिल्क और टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी के साथ टेक्सटाइल केमेस्ट्री में 4 वर्षीय एनआईटी (NIT), पटना के Textile Faculty के रूप में विकसित करते हुए शुरू करने के लिए आवश्यक निर्देश जारी किए जाएं।

उन्होंने कहा कि भागलपुर के बिहार रेशम एवं वस्त्र संस्थान में बीटेक कोर्स की पढ़ाई शुरू होने से न सिर्फ बिहार के युवा प्रशिक्षण लेकर रोजगार पा सकेंगे बल्कि उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए प्रशिक्षित कर्मियों की जरूरत भी पूरी होगी। गौरतलब है कि बिहार का भागलपुर सिल्क सिटी के नाम से देश – विदेश में प्रसिद्ध है अगर यहां के प्रतिष्ठित संस्थान की चमक लौटती है तो सिल्क सिटी भागलपुर की भी चमक भी बढ़ेगी।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!