Published On: Fri, Aug 13th, 2021

मैनपुरी: पूर्व आईपीएस की पोस्ट से पुलिस महकमे में खलबली, भाजपा विधायक के थाना निरीक्षण पर कसा तंज


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मैनपुरी
Published by: Abhishek Saxena
Updated Fri, 13 Aug 2021 12:28 AM IST

सार

बुधवार को विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति और भारतीय जनता पार्टी से इटावा सदर की विधायक सरिता भदौरिया मैनपुरी निरीक्षण पर आईं थीं। उन्होंने जिला कारागार, जिला अस्पताल सहित कई स्थानों का निरीक्षण भी किया

ख़बर सुनें

पूर्व आईपीएस ने सोशल मीडिया पर विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति व भाजपा विधायक के महिला थाने के निरीक्षण पर तंज कसते हुए पुलिस पर चाटुकारिता करने का आरोप लगाया। पोस्ट वायरल होने के साथ ही महकमे में खलबली मच गई। क्षेत्राधिकारी शहर ने कहा कि मंत्री का दर्जा प्राप्त सभापति का सम्मान किया गया। वह थाने के निरीक्षण पर आईं थीं। पोस्ट पूरी तरह से भ्रम फैलाने वाली है। 

बुधवार को विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति और भारतीय जनता पार्टी से इटावा सदर की विधायक सरिता भदौरिया मैनपुरी निरीक्षण पर आईं थीं। उन्होंने जिला कारागार, जिला अस्पताल सहित कई स्थानों का निरीक्षण भी किया। इस दौरान महिला संबंधी मामलों को लेकर वह महिला थाने में निरीक्षण करने पहुंची। इस दौरान महिला थानाध्यक्ष से जानकारी ली गई। 
बातचीत के दौरान फोटो में महिला थानाध्यक्ष खड़ी हुईं हैं। सभापति सरिता भदौरिया थानाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठी हैं। पास ही अन्य भाजपा जिलाध्यक्ष सहित कुछ अन्य लोग बैठे हुए हैं। इसी फोटो पर पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने तंज कसते हुए लिखा ‘सत्ता की अकड़ बनाम अफसरों की चापलूसी’। पोस्ट के वायरल होने के साथ ही महकमे में खलबली मच गई। आनन-फानन अधिकारी जवाब तलाशने में जुट गए। सीओ सिटी अभय नारायण राय ने भी कहा कि तस्वीर को कुछ अलग ढंग से पेश किया गया, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

क्षेत्राधिकारी शहर, अभय नारायण का कहना है कि विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति को मंत्री का दर्जा प्राप्त होता है। न्यायिक शक्तियां भी प्राप्त होती हैं। उनको सम्मान देने में कोई चाटुकारिता का कार्य नहीं किया गया। शासन के निर्देशों के अनुपालन के क्रम में महिला थाने का निरीक्षण उनके द्वारा किया गया था। वह किसी व्यक्तिगत कार्य या किसी के पक्षकार के रूप में थाने में उपस्थित नहीं थीं।

विस्तार

पूर्व आईपीएस ने सोशल मीडिया पर विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति व भाजपा विधायक के महिला थाने के निरीक्षण पर तंज कसते हुए पुलिस पर चाटुकारिता करने का आरोप लगाया। पोस्ट वायरल होने के साथ ही महकमे में खलबली मच गई। क्षेत्राधिकारी शहर ने कहा कि मंत्री का दर्जा प्राप्त सभापति का सम्मान किया गया। वह थाने के निरीक्षण पर आईं थीं। पोस्ट पूरी तरह से भ्रम फैलाने वाली है। 

बुधवार को विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति और भारतीय जनता पार्टी से इटावा सदर की विधायक सरिता भदौरिया मैनपुरी निरीक्षण पर आईं थीं। उन्होंने जिला कारागार, जिला अस्पताल सहित कई स्थानों का निरीक्षण भी किया। इस दौरान महिला संबंधी मामलों को लेकर वह महिला थाने में निरीक्षण करने पहुंची। इस दौरान महिला थानाध्यक्ष से जानकारी ली गई। 

बातचीत के दौरान फोटो में महिला थानाध्यक्ष खड़ी हुईं हैं। सभापति सरिता भदौरिया थानाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठी हैं। पास ही अन्य भाजपा जिलाध्यक्ष सहित कुछ अन्य लोग बैठे हुए हैं। इसी फोटो पर पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने तंज कसते हुए लिखा ‘सत्ता की अकड़ बनाम अफसरों की चापलूसी’। पोस्ट के वायरल होने के साथ ही महकमे में खलबली मच गई। आनन-फानन अधिकारी जवाब तलाशने में जुट गए। सीओ सिटी अभय नारायण राय ने भी कहा कि तस्वीर को कुछ अलग ढंग से पेश किया गया, जबकि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ।

क्षेत्राधिकारी शहर, अभय नारायण का कहना है कि विधान मंडल महिला एवं बाल विकास समिति की सभापति को मंत्री का दर्जा प्राप्त होता है। न्यायिक शक्तियां भी प्राप्त होती हैं। उनको सम्मान देने में कोई चाटुकारिता का कार्य नहीं किया गया। शासन के निर्देशों के अनुपालन के क्रम में महिला थाने का निरीक्षण उनके द्वारा किया गया था। वह किसी व्यक्तिगत कार्य या किसी के पक्षकार के रूप में थाने में उपस्थित नहीं थीं।





Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!