Published On: Thu, Sep 2nd, 2021

लटक रही हाईटेंशन लाइन से किसान को लगा करंट, मौत


ख़बर सुनें

अमेठी। थाना क्षेत्र संग्रामपुर के गांव डेहरा की सिवान में जमीन से कुछ ऊंचाई पर लटक रहे हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से बृहस्पतिवार सुबह बुजुर्ग की मौत हो गई। पावर कॉर्पोरेशन की लापरवाही को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराया है।
थाना क्षेत्र संग्रामपुर के गांव कुड़वा महमदपुर मजरे डेहरा निवासी हरिप्रसाद (65) गुरुवार सुबह सीवान में धान के खेत की निराई करा रहे थे। निराई कार्य समाप्त होने के बाद वह घास का गठ्ठर सिर पर लादकर घर जा रहे थे। घर जाते समय सिर पर रखा घास का गठ्ठर जमीन से कुछ फिट ऊपर लटक रहे हाईटेंशन लाइन के तार से टच कर गया।
तार के चपेट में आने से हरिप्रसाद गंभीर रूप से झुलस गए। ग्रामीणों की मदद से उन्हें सीएचसी अमेठी ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही परिवारीजनों में कोहराम मच गया। अस्पताल के मेमो पर अमेठी कोतवाली पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।
पावर कॉर्पोरेशन के अफसरों व कर्मचारियों की लापरवाही से लूज तार की चपेट में आने से बुजुर्ग की मौत होने पर परिवारीजनों के साथ ही ग्रामीणों में आक्रोश है। मृतक की पत्नी तारावती ने संग्रामपुर थाने में तहरीर देकर पावर कॉर्पोरेशन के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।
निष्प्रयोज्य लाइन में दौड़ रहा था करंट
ग्रामीणों के अनुसार यह विद्युत लाइन तीन दशक पूर्व सीवान के बीच राजकीय नलकूप के लिए बनाई गई थी। नलकूप पिछले करीब 20 वर्ष से बंद पड़ा है। बावजूद इसके लाइन में करंट दौड़ रहा है। कई बार पावर कॉर्पोरेशन के अफसरों से शिकायत करने के बावजूद न तो ढीला तार कसा गया और न ही लाइन काटी गई। वहीं एक्सईएन नलकूप जय प्रकाश ने बताया कि 180 एजी नलकूप कंडम घोषित है। कहा कि ग्रामीणों/किसानों की ओर से डिमांड नहीं आने के चलते उक्त नलकूप को दबोरा संचालित नहीं कराया गया।
दोषियों पर होगी कार्रवाई : एक्सईएन
पावर कॉर्पोरेशन के एक्सईएन छैल बिहारी ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में आते ही जांच एसडीओ अमेठी अमरजीत को सौंपी गई है। कहा कि उनसे विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी गई है। जांच में दोषी पाए जाने पर विभाग के संबंधित अफसरों/कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।

अमेठी। थाना क्षेत्र संग्रामपुर के गांव डेहरा की सिवान में जमीन से कुछ ऊंचाई पर लटक रहे हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से बृहस्पतिवार सुबह बुजुर्ग की मौत हो गई। पावर कॉर्पोरेशन की लापरवाही को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराया है।

थाना क्षेत्र संग्रामपुर के गांव कुड़वा महमदपुर मजरे डेहरा निवासी हरिप्रसाद (65) गुरुवार सुबह सीवान में धान के खेत की निराई करा रहे थे। निराई कार्य समाप्त होने के बाद वह घास का गठ्ठर सिर पर लादकर घर जा रहे थे। घर जाते समय सिर पर रखा घास का गठ्ठर जमीन से कुछ फिट ऊपर लटक रहे हाईटेंशन लाइन के तार से टच कर गया।

तार के चपेट में आने से हरिप्रसाद गंभीर रूप से झुलस गए। ग्रामीणों की मदद से उन्हें सीएचसी अमेठी ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही परिवारीजनों में कोहराम मच गया। अस्पताल के मेमो पर अमेठी कोतवाली पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

पावर कॉर्पोरेशन के अफसरों व कर्मचारियों की लापरवाही से लूज तार की चपेट में आने से बुजुर्ग की मौत होने पर परिवारीजनों के साथ ही ग्रामीणों में आक्रोश है। मृतक की पत्नी तारावती ने संग्रामपुर थाने में तहरीर देकर पावर कॉर्पोरेशन के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

निष्प्रयोज्य लाइन में दौड़ रहा था करंट

ग्रामीणों के अनुसार यह विद्युत लाइन तीन दशक पूर्व सीवान के बीच राजकीय नलकूप के लिए बनाई गई थी। नलकूप पिछले करीब 20 वर्ष से बंद पड़ा है। बावजूद इसके लाइन में करंट दौड़ रहा है। कई बार पावर कॉर्पोरेशन के अफसरों से शिकायत करने के बावजूद न तो ढीला तार कसा गया और न ही लाइन काटी गई। वहीं एक्सईएन नलकूप जय प्रकाश ने बताया कि 180 एजी नलकूप कंडम घोषित है। कहा कि ग्रामीणों/किसानों की ओर से डिमांड नहीं आने के चलते उक्त नलकूप को दबोरा संचालित नहीं कराया गया।

दोषियों पर होगी कार्रवाई : एक्सईएन

पावर कॉर्पोरेशन के एक्सईएन छैल बिहारी ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में आते ही जांच एसडीओ अमेठी अमरजीत को सौंपी गई है। कहा कि उनसे विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी गई है। जांच में दोषी पाए जाने पर विभाग के संबंधित अफसरों/कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!