Published On: Tue, Jun 16th, 2020

1200KM साइकिल चलाकर पिता को घर लाई थीं ज्योति, अब इनाम राशि से कराई बुआ की शादी


साहसिक काम करने पर खुद को मिली इनाम राशि का एक भाग ज्योति ने अपनी बुआ का घर बसाने के लिए खर्च कर दी है (Darbhanga Cycle Girl Jyoti Spend 50 Thousand On Bua’s Wedding) (Bihar News) (Darbhanga News) (Darbhanga Cycle Girl Jyoti Kumari) (Trending News) (Inspiring Story)…

 

दरभंगा: साइकिल से हजारो किलोमीटर लंबा सफर तय कर अपने पिता को गांव लाने वाली बिहार के दरभंगा की ज्योति कुमारी (Jyoti Kumari Darbhanga) ने विश्व स्तर पर सुर्खिया बंटोरी। बेटी का फर्ज निभाने वाली ज्योती का दिल भी बहुत बड़ा है। पारिवारिक रिश्तों का महत्व समझने वाली ज्योति ने समाज के सामने एक नजीर पेश की है। साहसिक काम करने पर खुद को मिली इनाम राशि का एक भाग ज्योति ने अपनी बुआ का घर बसाने के लिए खर्च कर दी है। ज्योति के इस काम की चारों ओर सराहना हो रही है।

यह भी पढ़ें: धार्मिक संस्थान ने की ज्योति के लिए बड़ी पेशकश, बीमार पिता को साइकिल से लाई थीं दरभंगा

मिली जानकारी के अनुसार ज्योति के दादा का एक भाई था। दोनों दादा कारी पासवान व शिवनंदन पासवान का देहांत हो चुका है। ज्योति की दूसरी दादी लीला देवी लकवाग्रस्त है। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। ज्योति का अपनी बुआ और लीला देवी की बेटी से बेहद लगाव है।

यह भी पढ़ें: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामला : भाजपा नेता विनय कटियार ने 1000 सवाल के दिए जवाब कहा, मुझे गलत तरीके से फंसाया गया

मजदूर पिता की इस बेटी को जब इनाम की राशि मिली तो उसके मन में बुआ के हाथ पीले करने की बात आई। यह बात उसने अपने माता—पिता से साझा की। इसके बाद बुआ कविता की शादी समस्तीपुर जिले में नाथुद्वार गांव के शिबू पासवान के पुत्र अरविंद पासवान के साथ श्यामा मंदिर में हुई। इसमें ज्योति को मिले इनाम में से 50 हजार रुपए खर्च किए गए। ज्योति के पिता मोहन पासवान का कहना है कि समाज से हमें सहयोग मिला है। ज्योति ने बुआ की शादी करने की बात कही तो सहयोग राशि से गरीब परिवार की लड़की की शादी कर दी। उन्होंने कहा कि उन्हें ज्योति पर बहुत गर्व है।

 

1200KM साइकिल चलाकर पिता को घर लाई थीं ज्योति, अब इनाम राशि से कराई बुआ की शादी

बिहार से बॉलीवुड तक सुशांत ने बिखेरा था जलवा, हर क्षेत्र में बढ़ाया राज्य का मान

गौरतलब है कि Coronavirus के दस्तक देने के बाद लगाए गए लॉकडाउन के बीच ही ज्योति के पिता की तबीयत बिगड़ गई थी। वह हरियाणा के गुरुग्राम में मजदूरी करते थे। ज्योति 1200 किलोमीटर तक साइकिल पर बैठाकर अपने पिता को बिहार के दरंभगा जिले के सिरहुल्ली गांव तक ले आई थीं। इसके बाद ज्योति की मदद को कईं हाथ आगे आए। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने भी उसकी सराहना की थी।

बिहार की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…





Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!