Published On: Thu, Aug 12th, 2021

Aadhar synding not done for 5376 beneficiaries of old age pension Patna 39 s Task Page Four


जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी ने बीडीओ को आधार सिडिंग के लिए दिया है निर्देश

80 वर्ष से अधिक उम्र के लाभुकों को प्रति माह 500 तक, इनसे कम उम्र वालों को 400 मिलती है पेंशन

भभुआ। हिन्दुस्तान संवाददाता

कैमूर जिले में 5376 वृद्धा पेंशन के लाभुकों का खाता आधार कार्ड से लिंक नहीं हो सका है। लाभुकों का खाता आधार से लिंक नहीं होने के कारण उन्हें बैंकों से पेंशन की निकासी करने में कठिनाई हो रही है। जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, कैमूर में कुल वृद्धा पेंशन लाभुकों की संख्या एक लाख 55 हजार 508 है, जिसमें 1 लाख 49 हजार 745 लाभुकों का बैंक खाता उनके आधार कार्ड से लिंक किया गया है। जबकि अभी भी 5376 लाभुकों का खाता आधार से लिंक नहीं हो सका है।

विभागीय अफसरों ने बताया कि सरकार द्वारा सभी लाभुकों के लिए प्रति माह राशि उनके खाता में भेज दिया जाता है। लेकिन, जिन लाभुकों का खाता आधार से लिंक नहीं हो सका है, उन्हें बैंकों से पैसा निकासी करने में कठिनाई हो रही है। बैंक में जाने पर वहां के अफसरों द्वारा पहले लाभुकों के खाता को आधार से लिंक किया जाता है, इसके बाद उन्हें योजना की राशि निकासी के लिए अनुमति दी जाती है। इस प्रक्रिया को पूरी करने में लाभुकों को काफी देर तक बैंकों में रूकना पड़ता है, जिससे उन्हें कठिनाई होती है और वह दूसरा काम नहीं कर पाते हैं।

सामाजिक सुरक्षा कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी ने सभी बीडीओ को वृद्धा पेंशन के लाभुकों का बैंक खाता अभियान चलाकर आधार से लिंक करवाने की दिशा में पहल करने का निर्देश दिया है। उधर, विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, 60 से 79 वर्ष आयु वर्ग के लाभुकों को प्रत्येक माह चार सौ तथा 80 वर्ष व उससे अधिक उम्र के लाभुकों को प्रत्येक माह पांच सौ रुपये वृद्धा पेंशन योजना से लाभ मिलता है।

फोटो-12 अगस्त भभुआ- 4

कैप्शन- समाहरणालय परिसर में स्थित सामाजिक सुरक्षा कोषांग के कार्यालय में गुरुवार को कामकाज निपटाते कर्मी।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!