Published On: Wed, Aug 11th, 2021

Agra crime news: जिगोलो बनने का झांसा देकर बेरोजगारों से की लाखों की ऑनलाइन ठगी, 3 अरेस्‍ट


हाइलाइट्स

  • आगरा में जिगोलो (प्लेबॉय) बनाने का झांसा देकर लाखों की ठगी को अंजाम देने वाला गिरोह पकड़ा है
  • पुलिस ने इस मामले में बिहार के एक निवासी सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है
  • आरोपियों ने बताया कि लड़कियों की मसाज करने का ऑनलाइन विज्ञापन देकर वह युवकों को फंसाते थे

आगरा
आगरा में जिगोलो (प्लेबॉय) बनाने का झांसा देकर लाखों की ठगी को अंजाम देने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया गया है। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों ने बताया कि लड़कियों की मसाज करने का ऑनलाइन विज्ञापन देकर वह युवकों को फंसा कर उनसे रजिस्ट्रेशन के नाम पर ठगी करते थे। अब तक आरोपियों का गिरोह जिगोलो बनने के इच्छुक लगभग 100 युवकों से यह गिरोह लाखों रुपये की ठगी कर चुका है।

आगरा में पकड़े गए जिगोलो (प्लेबॉय) बनाने के नाम पर ठगी करने वाले साइबर ठग गैंग का सरगना भोला कुमार है। वह बिहार का रहने वाला है। उसकी दोस्ती आगरा के सोनू शर्मा से है। आरोपियों ने प्लेबॉय के नाम से एक वेबसाइट भी बना रखी है। युवाओं के कॉल करने पर आरोपी पहले उनकी फोटो मंगवाते थे। इसके बाद कहते थे कि आप तंदुरुस्त हो, हर रात काम मिलेगा। ऐसी महिलाओं के पास जाना होगा, जो अकेली रहती हैं। बहुत कमाई होगी। इस बारे में किसी को बताना नहीं। अगर, किसी को बताओगे तो क्लब से हटा दिया जाएगा, सदस्यता खत्म हो जाएगी।

नोएडा होटल में चल रहे सेक्स रैकेट पर रेड, दो युवती सहित 3 गिरफ्तार

साइबर सेल और सदर पुलिस ने गैंग के मास्टरमाइंड भोला कुमार समेत मुकेश और सोनू शर्मा को गिरफ्तार किया है। इंस्पेक्टर सदर अजय कौशल ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में ठगी के कई तरीकों की जानकारी हुई है। आरोपियों ने कहा कि बेरोजगारों को जाल में फंसाना बहुत आसान है। आजकल नौजवान ऐसे काम की तलाश में रहते हैं, जहां पैसे के साथ मस्ती भी हो। इसी वजह से वे ऑन लाइन प्लेबॉय क्लब के सदस्य बनने के लिए दूसरे राज्यों के समाचार पत्रों में और इंटरनेट मीडिया पर विज्ञापन देते थे।

5 से 35 हजार रुपये तक जमा कराते थे
पुलिस ने बताया कि प्लेबॉय की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन के नाम पर एक फॉर्म भरना होता था। रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर पांच से 35 हजार रुपये तक जमा करा लेते थे। इसके बाद फोन बंद कर लेते थे। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि बिहार का रहने वाला भोला कुमार पहले साइबर ठगों के गैंग में काम करता था, बाद में खुद ही ठगी करने लगा। उसकी दोस्ती आगरा के सोनू से थी। सोनू ने अपने गांव के मुकेश कुमार तैयार किया और गिरोह बना लिया।
गिरोह का मास्टमाइंड भोला कुमार खाते में जमा होने वाली रकम में से आधा हिस्सा लेता था। बाकी सोनू और मुकेश को देता था। आरोपी लोन दिलाने के नाम पर खाते में रकम जमा कराते थे। अब तक दस लाख रुपये की ठगी का पता चला है। आरोपियों के बैंक खाते भी चेक किए जाएंगे, जिससे उनके खाते में पड़ी रकम को जब्त किया जा सके।

gigolo news

सांकेतिक तस्‍वीर



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!