Published On: Fri, Aug 13th, 2021

AICTE news: खुशखबरी! BTech के बीच में ही दूसरे इंजीनियरिंग कोर्स में मिलेगा एडमिशन, समझ लें नियम


हाइलाइट्स

  • इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी
  • एआईसीटीई ने की नयी घोषणा
  • अब कोर्स के बीच में ही बदल सकेंगे ब्रांच

AICTE Lateral Entry news in hindi: इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे या एडमिशन लेने जा रहे स्टूडेंट्स के लिए खुशखबरी है। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) ने बीटेक की पढ़ाई के बीच में ही स्टूडेंट्स को ब्रांच बदलने की अनुमति दे दी है। कॉलेजों को निर्देश जारी कर दिये गये हैं। इसके साथ ही काउंसिल ने लैटरल एंट्री (Lateral Entry) कुछ अन्य नियम भी बताये हैं। एआईसीटीई ने इस बारे में घोषणा करते हुए कहा कि स्टूडेंट्स इसकी मांग कर रहे थे और काउंसिल को कई रिक्वेस्ट भी मिल रहे थे।

एआईसीटीई की एग्जीक्यूटिव कमेटी के समक्ष यह प्रस्ताव रख गया था। कमेटी ने इसे मंजूरी देते हुए कहा कि जो स्टूडेंट्स बीटेक या बीई कोर्स (BTech BE Course) के बीच अपना इंजीनियरिंग ब्रांच बदलना चाहें, उन्हें तकनीकि संस्थान ऐसा करने की सुविधा दे सकते हैं।

AICTE BTech Lateral Entry Guidelines: जान लें नियम
दूसरे कोर्स/ ब्रांच में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को कोर्स के वे हिस्से दोबारा नहीं पढ़ने होंगे, जो वे पहले ब्रांच के कोर्स के दौरान पढ़ चुके होंगे।

क्योंकि कोर्स में प्रैक्टिकल की जरूरत होती है, इसलिए स्टूडेंट्स को किसी भी संस्थान या यूनिवर्सिटी में लैटरल एंट्री के दौरान रेगुलर स्टूडेंट के रूप में ही एडमिशन लेना होगा।

ये भी पढ़ें : World Top 10 Exams: जानें ऐसे टॉप 10 एग्जाम, जिन्हें पास करना सभी के लिए मुश्‍किल

इसके अलावा एआईसीटीई ने एडिशनल डिग्री कोर्स की अवधि दो साल से बढ़ाकर अब तीन साल कर दी है। काउंसिल का कहना है कि ‘कोर्स की अवधि इसलिए बढ़ाई गई है ताकि कोर डिसिप्लिन में क्रेडिट पर कोई समझौता न हो। जरूरी क्रेडिट्स पूरे किये जा सकें।’

ये भी पढ़ें : White Lines On The Roads: सड़क पर सफेद व पीली पट्टी का क्या मतलब है? आज आप भी जानें

एआईसीटीई ने इस घोषणा के साथ सभी संबद्ध संस्थानों को कोर्स स्ट्रक्चर और नियमों में जरूरी बदलाव करने के निर्देश जारी किये हैं। साथ ही बीटेक स्टूडेंट्स को एडिशनल कोर्स में एडमिशन देने और कोर्स के संचालन के लिए लिए जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!