Published On: Sun, Sep 5th, 2021

Bihar News : महाभारत से निकली बात जाति से तक पहुंची, कायस्थ के रास्ते मनुस्मृति तक गई, ट्विटर पर तेज प्रताप और अजय आलोक में टक्कर


हाइलाइट्स

  • लालू परिवार में बगावती तेवर अपनाए हुए हैं तेज प्रताप यादव
  • सोशल मीडिया पर तेज प्रताप और अजय आलोक में भिड़ंत
  • तेज प्रताप यादव ने महाभारत युद्ध के बारे में किया था ट्वीट
  • जेडीयू नेता अजय आलोक के कमेंट पर जाति तक पहुंची बात

पटना
लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की सोशल मीडिया पर जेडीयू नेता अजय आलोक से टक्कर हो गई। बात मनुस्मृति से लेकर कायस्थ तक पहुंच गई। पार्टी और परिवार में बगावती तेवर दिखा रहे तेज प्रताप आजकल कोई भी बात सीधे-सीधे न कहकर इशारों में कह रहे हैं। तेज प्रताप के एक ट्वीट पर अजय आलोक ने रिप्लाई कर दिया तो बात जाति तक पहुंच हुई।

तेज प्रताप यादव के नजर में अहंकारी कौन?
हाल ही में पार्टी के भीतर बगावती तेवर अख्तियार करने के बाद आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव अब बदले-बदले नजर आ रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि अब वो सीधे तौर पर कोई टिप्पणी नहीं कर रहे। सोशल मीडिया के जरिए संकतों में अपनी बात रख रहे हैं। तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर महाभारत युद्ध की एक तस्वीर लगाई है और लिखा है कि ‘अहंकार मानव का और मानव समाज का इतना बड़ा शत्रु है, जो सम्पूर्ण मानव जाति के कष्ट का कारण और अन्ततः विनाश का द्वार बनता है।’

श्रीकृष्ण के सुदर्शन चक्र वाले फोटो के मायने
मगर तेज प्रताप ने अपने ट्वीट में जो फोटो लगाया है वो काफी रोचक है। ये तस्वीर महाभारत युद्ध की है, जब भगवान श्रीकृष्ण सुदर्शन चक्र उठाए हैं और अर्जुन उनके पैर पकड़ लिए है। दरअसल युद्ध में कौरव सबको घायल कर चुके थे। पांडव सेना के सभी प्रमुख राजा भाग गए। अर्जुन भी युद्ध में कुछ नहीं कर पा रहे थे। तब भगवान श्रीकृष्ण ने कहा कि ‘अब मैं स्वयं अपना चक्र उठाकर भीष्म और द्रोण के प्राण लूंगा और धृतराष्ट्र के सभी पुत्रों को मारकर पांडवों की जीत सुनिश्चित करूंगा।’

धर्मग्रंथों के मुताबिक कृष्ण ने जब अपना चक्र उठाया और उनके पैर जैसे ही पृथ्वी पर पड़े तो धरती कांपने लगी। कृष्ण की गर्जना से पूरी युद्ध भूमि सिहर उठी। कौरवों का विनाश करने के लिए श्रीकृष्ण चल पड़े। जब कृष्ण चक्र लेकर कौरवों की ओर बढ़ रहे थे तो अर्जुन रथ से उतरकर उनके पीछे दौड़े। किसी तरह कृष्ण के गुस्से को शांत किया। साथ ही ये वचन दिया कि वो युद्ध में कौरवों का विनाश करेंगे। पांडवों की जीत सुनिश्चित करेंगे। अर्जुन की यह प्रतिज्ञा सुनकर श्रीकृष्ण प्रसन्न हो गए और वापस रथ पर लौट आए।

अजय आलोक के जवाब से बिदक गए तेज प्रताप
तेज प्रताप के इसी ट्वीट के जवाब में जेडीयू नेता अजय आलोक ने लिखा कि ‘सच्चाई का बोध मनुष्य को प्रभु के दर्शन करवाता हैं, आप हमेशा प्रभु के करीब रहते हो इसलिए ये सत्य वचन है लेकिन एक सच्चाई ये भी हैं की हक के लिए लड़ना पड़ता है नहीं तो महाभारत नहीं होता। आगे आप खुद समझदार हो।’

लड़ाई के उकसाने की बात तेज प्रताप यादव को चुभ गई। उन्होंने ट्विटर के जरिए ही अजय आलोक को जवाब दिया। तेज प्रताप ने लिखा कि ‘मनुस्मृति की छांव में पलने वालों के मुंह से सच्चाई, महाभारत, दर्शन आदि पवित्र शब्दों का प्रयोग तमाम मनुष्य जाति को ठेस पहुंचाता है। अतः जनमानसों का ख्याल रखें और अपना गटर बंद कर के चलने का संकल्प लें..!’

‘मनुस्मृति में तो कायस्थ जाति का जिक्र ही नहीं’
आमतौर पर सियासत में मनुस्मृति का जिक्र सवर्णों के खिलाफ दलित वोटरों को एकजुट करने में किया जाता है। तथाकथित दलित नेता बड़े ही चालाकी और सुविधानुसार इसका इस्तेमाल करते हैं। मगर अजय आलोक के सामने तेज प्रताप फंस गए। अजय आलोक ने जवाब दिया कि ‘थोड़ा मनुस्मृति पढ़ते तो जानते की कायस्थ जाति का उसमें उल्लेख ही नहीं हैं, मैंने तो भलेमन से कुछ बातें कही थी आप तो बुरा मान गए, सच हमेशा कड़वा होता हैं।’

…मनुस्मृति में किन-किन जातियों का जिक्र है?
दरअसल सनातन धर्म के मुताबिक मनु संसार के प्रथम पुरुष थे। मनु का जन्म आज से हजारों साल पहले हुआ था। इनकी पत्नी शतरूपा थीं। प्रथम पुरुष और प्रथम स्त्री से सभी की उत्पत्ति हुई। मनु के संतान होने की वजह से सभी लोग मानव या मनुष्य कहलाए। उन्होंने जो रचना की उसे मनुस्मृति कहा गया। इसमें कुल 12 अध्याय हैं जिनमें 2 हजार 684 श्लोक हैं। कहीं-कहीं पर इनकी संख्या 2 हजार 964 भी है। अंग्रेजों के शासनकाल में इसे कानूनी मान्यता मिली हुई थी। इसमें वर्ण-व्यवस्था और उनके कामों के बारे में काफी विस्तार से बताया गया है। जिसें ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र का जिक्र है। मगर जेडीयू नेता अजय आलोक जाति से कायस्थ है। शायद इसी वजह उन्होंने तेज प्रताप को अपनी जाति के बारे में बताया कि जिस मनुस्मृति का वो जिक्र कर रहे हैं, उसमें उनकी जाति की चर्चा तक नहीं है।

Bihar News : महाभारत से निकली बात जाति से तक पहुंची, कायस्थ के रास्ते मनुस्मृति तक गई, ट्विटर पर तेज प्रताप और अजय आलोक में टक्कर

Bihar News : महाभारत से निकली बात जाति से तक पहुंची, कायस्थ के रास्ते मनुस्मृति तक गई, ट्विटर पर तेज प्रताप और अजय आलोक में टक्कर



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!