Published On: Fri, Feb 12th, 2021

bihar news: kishanganj news boom in the gas pipeline project will change with the ganga energy scheme : मुआवजा देने के साथ ही गैस पाइपलाइन परियोजना में आई तेजी… गंगा ऊर्जा योजना से बदल देगी किस्मत


हाइलाइट्स

  • बिहार में तेजी से चल रहा गैस पाइपलाइन योजना पर काम
  • किशनगंज में मुआवजा देने के साथ ही काम में आई तेजी
  • बिहार में 235 किलोमीटर तक पाइपलाइन बिछाने की योजना

किशनगंज
ऊर्जा गंगा योजना के तहत बरौनी-गुवाहाटी गैस पाइपलाइन परियोजना के तहत मुआवजा भुगतान का काम करीब 50 फीसदी पूरा हो चुका है। बाकी मुआवजा भुगतान का काम भी जल्द ही हो जाएगा।

मुआवजा भुगतान के साथ काम में तेजी
कार्यकारी एजेंसी गेल के इंजीनियर गोपाल सिंह ने कहा कि करीब पांच किलोमीटर तक जमीन के अंदर खुदाई कर पाइप बिछाने का काम पूरा कर लिया गया है। इसके बाद ठाकुरगंज और पोठिया प्रखंड के सीमावर्ती क्षेत्र बहादुरपुर बुढ़नई के पास ठाकुरगंज की सीमा में जोड़ा जाएगा। खारुदह पंचायत में गैस परियोजना के तहत शिविर लगाकर मुआवजा भुगतान का काम पूरा किया गया। इसके बाद से कार्य में भी तेजी आई है। फिलहाल पोठिया प्रखंड के सोनापुर, डूबानोची, सारनी गांवों में पाइपलाइन बिछाने का कार्य तेजी से चल रहा है।

क्या है ऊर्जा गांगा परियोजना?
ऊर्जा गंगा परियोजना काफी महत्त्वाकांक्षी गैस पाइपलाइन परियोजना है। जिसका लक्ष्य देश के पूर्वी भाग के निवासियों को ‘पाइप्ड नेचुरल गैस’ (PNG) और वाहनों के लिए CNG उपलब्ध कराना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्टूबर 2016 में वाराणसी में इस परियोजना की नींव रखी थी। इस परियोजना के तहत 2018 तक उत्तर प्रदेश के जगदीशपुर से पश्चिम बंगाल के हल्दिया को जोड़ने वाली लगभग 2 हजार 500 किलोमीटर लंबी गैस पाइपलाइन बिछाई जा रही है। गैस ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (GAIL) के जरिए लागू की जा रही है इस योजना में पूर्वी भारत के 5 राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिशा हैं। पूर्वी भारत के 7 प्रमुख शहर वाराणसी, जमशेदपुर, पटना, रांची, कोलकाता, भुवनेश्वर और कटक इस नेटवर्क के विकास से सबसे ज्यादा लाभ उठाएंगे। गैस आपूर्ति से गोरखपुर बरौनी, सिंदरी और दुर्गापुर के खाद कारखानों के जीर्णोद्धार में भी मदद मिलेगी।

बिहार में कहां-कहां चल रहा काम?
पश्चिमी छोर पर अररिया की सीमारेखा से कोचाधामन प्रखंड में पाइपलाइन का कार्य शुरू होकर बहादुरगंज, ठाकुरगंज और पोठिया प्रखंड होते हुए पूर्वी छोर में पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर में प्रवेश करेगा। ऊर्जा गंगा योजना के तहत भारत सरकार की नॉर्थ-ईस्ट राज्यों को नेशनल गैस ग्रिड से जोड़ने की योजना है। जिसके लिए कुल 10 हजार 500 करोड़ की राशि परियोजना के लिए मंजूर की गई है।

बिहार में करीब 235 किलोमीटर तक पाइप लाइन बिछाने की योजना पर काम चल रहा है, जिसमें केवल किशनगंज जिले में कुल 70 किलोमीटर तक पाइप लाइन बिछाया जाएगा। किशनगंज के कुल 4 प्रखंडों में इस परियोजना का कार्य चल रहा है। पूरे बिहार में कुल 6 जिले इस परियोजना में शामिल हैं। जिसमें बेगूसराय, खगड़िया, मधेपुरा, पूर्णिया, अररिया और किशनगंज में पाइपलाइन का काम चल रहा है।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!