Published On: Mon, Sep 13th, 2021

Career After 12th: माइक्रोबायोलॉजी में नौकरी के ढेरों अवसर, जानें कहां से कर सकते हैं कोर्स


हाइलाइट्स

  • साइंस की दुनिया में बनाएं करिय
  • जानें कैसे करें माइक्रोबायोलॉजी का कोर्स
  • यहां जानें माइक्रोबायोलॉजी का बेस्ट कॉलेज

Career In Microbiology After 12th: साइंस की दुनिया बहुत व्‍यापक है। इसमें सभी फील्‍ड एक दूसरे से अलग होते हुए भी एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं। जैसे मेडसिन व माइक्रोबायोलॉजी। इन दोनों को लाइफ साइंस भी कहते हैं। अगर हम बात करें माइक्रोबायोलॉजी की तो इनके विशेषज्ञों की बदौलत हाल-फिलहाल में कई संक्रामक बीमारियों, जैसे कोरोना वायरस, जीका वायरस, एचआईवी और स्वाइन फ्लू आदि की पहचान से लेकर उपचार तक में सार्थक पहल की गई है। डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ व डेयरी उत्पादों की जांच-पड़ताल करना भी अब माइक्रोबायोलॉजी के इस्तेमाल से काफी आसान हो गया है। चिकित्सा के क्षेत्र में शोध के अलावा जीन्स थैरेपी व प्रदूषण पर रोक की दिशा में माइक्रोबायोलॉजिस्ट ने कई नए आयाम गढ़े हैं।

क्‍या है माइक्रोबायोलॉजी (What is Microbiology)
यह बायोलॉजी की एक ब्रांच है जिसमें प्रोटोजोआ, ऐल्गी, बैक्टीरिया, वायरस जैसे सूक्ष्म जीवाणुओं पर अध्ययन और रिसर्च किया जाता है। इसमें माइक्रोबायोलॉजिस्ट इन जीवाणुओं के इंसानों, पौधों और जानवरों पर पड़ने वाले पॉजिटिव और निगेटिव इफेक्‍ट को जानने की कोशिश करते हैं। माइक्रोबायोलॉजिस्ट बीमारियों की वजह जानने में ये मदद करते है। इसके साथ ही जीन थेरेपी तकनीक के जरिये वे इंसानों में होने वाले सिस्टिक फिब्रियोसिस, कैंसर जैसे दूसरे जेनेटिक डिसऑर्डर्स के बारे में भी पता करते हैं।

माइक्रोबायोलॉजी में कोर्स (Course in Microbiology)
अगर आप माइक्रोबायोलॉजी बनना चाहते हैं तो इसके लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स और बायोलॉजी के साथ 12वीं पास करना पड़ेगा। वहीं, अगर पोस्टग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो इसके लिए माइक्रोबायोलॉजी में बैचलर्स डिग्री होना आवश्यक है। इसके बाद अप्लायड माइक्रोबायोलॉजी, मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी, क्लीनिकल रिसर्च, बायोइंफॉर्मेटिक्स, मॉलिक्यूलर बायोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, फोरेंसिक साइंस जैसे सब्जेक्ट्स में मास्टर्स कर सकते हैं।
इसे भी पढ़ें: Career In Computer Networking: कंप्‍यूटर नेटवर्किंग में बनाएं करियर, नहीं है जॉब्‍स की कमी

करियर विकल्‍प (Career Options in Microbiology)
विश्‍व में दिन-प्रतिदिन बढ़ती नई-नई बीमारियों के कारण माइक्रोबायोलॉजी का क्षेत्र काफी अच्छा करियर विकल्‍प बन गया है। माइक्रोबायलोजिस्ट के तौर पर आप लेबोरेटरी, क्लिनिक, हॉस्पिटल, फार्मास्यूटिकल कंपनी, डायरी प्रोडक्ट्स, टीचिंग, रिसर्च असिस्टेंट, और जेनेटिक इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चरल प्रोडक्ट मेकिंग कंपनी आदि सेक्टर में बेहतरीन करियर बना सकते हैं। इस क्षेत्र में सरकारी और प्राइवेट दोनो सेक्टर में समान अवसर हैं।

इन जॉब प्रोफाइल पर अवसर (Jobs In Microbiology Field)

मेडिकल माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Medical Microbiologist)- इनका कार्य शरीर में होने वाले संक्रमण व इन्हें नियंत्रित करने वाले उपायों की तलाश पर जोर देते हैं साथ ही ये नए रोगाणुओं की खोज भी करते हैं।

पब्लिक हेल्थ माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Public Health Microbiologist)- इनका कार्य पानी एवं खाद्य पदार्थों की आपूर्ति के दौरान उनमें फैलने वाली बीमारियों का अध्ययन करना और उन पर नियंत्रण पाना है।

एग्रीकल्चर माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Agriculture Microbiologist)- ये फसलों की सेहत सुधारने, उन्हें हानिकारक न होने देने, मृदा परीक्षण कर उसकी उत्पादकता बढ़ाने आदि पर ध्यान देते हुए अपने काम को गति देते हैं।
इसे भी पढ़ें: English Tips: इंग्लिश एग्‍जाम में बिल्कुल न करें ये गलतियां, जानें तैयारी का सही तरीका

माइक्रोबियल इकोलॉजिस्ट (Microbial Ecologist)- इनका कार्य सूक्ष्म जीवों की उत्पत्ति एवं मिट्टी व पानी के रासायनिक चक्र में उनके महत्व को परखना है। ये वातावरण को प्रदूषित होने से भी बचाते हैं।

फूड एंड डेयरी माइक्रोबायोलॉजिस्ट (Food and Dairy Microbiologist)- सभी तरह के फूड व डेयरी उत्पादों पर सूक्ष्म जीवों के प्रतिकूल प्रभावों की जांच करना इनका कार्य है। डेयरी उत्पाद की गुणवत्ता बनाए रखने का जिम्मा भी इन्हीं का होता है।

बायोमेडिकल साइंटिस्ट (Biomedical Scientist)- जो लैब में कार्य करना चाहते हैं वे बायोमेडिकल में जा सकते हैं। इनका कार्य जीवों मे बीमारियों का अध्ययन करने व जैविक सूचनाओं का सही प्रबंधन करते हुए उनके हानिकारक तत्वों को कम करना है।

आकर्षक वेतन
अगर आप इस सेक्‍टर में जाना चाहते हैं तो आपको इसमें निजी सेक्टर खासकर बहुराष्ट्रीय कंपनियों में सबसे अच्छा वेतन मिलेगा। मास्टर या पीजी डिप्लोमा कोर्स के बाद किसी चिकित्सा संस्थान से जुड़ने पर आपको 40 से 50 हजार रुपये प्रतिमाह मिल सकते हैं। अगर आप शोध या अध्यापन में जाते हैं तो आप लाखों रूपये प्रतिमाह कमा सकते हैं।

यहां से कर सकते हैं कोर्स (Institutes For Microbiology Courses)

  1. दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली (Delhi University, New Delhi)
  2. एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा (Amity University, Noida)
  3. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी, वाराणसी (Banaras Hindu University, Varanasi)
  4. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ (Aligarh Muslim University, Aligarh)
  5. पटना विश्वविद्यालयए पटनाए बिहार (Patna University Patna, Bihar)
  6. म‍नीपाल एकेडमी ऑफ हायर एजूकेशन, मनीपाल (Manipal Academy of Higher Education, Manipal)



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!