Published On: Sat, Sep 11th, 2021

Career Tips: कोरोना के बाद सबसे ज्‍यादा करियर ग्रोथ कर रहें ये सेक्‍टर, जानें आप भी कैसे कर सकते हैं अप्लाई


हाइलाइट्स

  • कोरोना के बाद इन तीन क्षेत्रों में हैं अच्छा करियर
  • जानें भारत के टॉप सेक्टर, जिनमें मिलेगी हाई सैलरी
  • आप भी कर सकते हैं इन जॉब्स की तैयारी

Highly Paid Jobs: पिछले साल आए कोरोनावायरस ने अब तक पीछा नहीं छोड़ा है। इसके कारण भारत के साथ पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में आ गर्इ। भारत में लंबे लॉकडाउन के चलते विकास दर निगेटिव में चली गई थी, हालांकि अब उसमें लगातार सुधार हो रहा है, लेकिन अनिश्चितता का माहौल अब भी बना हुआ है। कोरोना के कारण जहां कई सेक्टर्स मंदी के चपेट में चले गए, वहीं कुछ ऐसे सेक्टर भी हैं, जिन्होंने इस आपदा में अवसर खोज लिया। हेल्थकेयर सेक्टर, ई-कामर्स सेक्‍टर, आईटी सेक्टर भी इन्हीं में शामिल हैं। जिनमें पिछले साल से अच्छी खासी ग्रोथ देखने को मिल रही है।

हेल्थकेयर सेक्टर (Healthcare Sector)
कोरोना वायरस महामारी से जहां कई सेक्‍टर को भारी नुकसान हुआ है, वहीं हेल्थकेयर सेक्टर ऐसा सेक्‍टर है, जिसे सबसे ज्‍यादा फायदा हुआ है। इस सेक्‍टर में लगातार अच्छी ग्रोथ देखने को मिली है। जिसके कारण इस क्षेत्र में जॉब्‍स की भी भरमार है। अनुमान लगाया जा रहा है कि 2021 में इस क्षेत्र के लिए अपेक्षित औसत वार्षिक वेतन वृद्धि 8 फीसदी रहेगी। वहीं इस क्षेत्र में काम करने वाले नए लोग अपने पिछले वेतन से 15 से 20 फीसदी वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं। फार्मा कंपनियों ने इस आपदा को अवसर में बदला है, महामारी के चलते लोग अपने हेल्थ को लेकर ज्यादा सजग हुए, जरा भी सर्दी, खांसी या वायरस पर लोगों ने डॉक्टर से सेकंसल्ट किया और दवाओं का सहारा लिया, दवाओं के साथ हेल्थ सप्लीमेंट, फेस मास्क, सैनिटाइजर, इम्यूनिटी बढ़ाने वाली दवाएं, हाइजीन से जुड़े प्रोडक्ट की जमकर डिमांड आई।

इस दौरान आनलाइन दवाओं की सप्लाई में भी इजाफा हुआ। वहीं लैब और टेस्टिंग की सुविधा में विकास होने के साथ बूस्‍ट भी किया है, जिससे निजी अस्पतालों को भी काफी फायदा हुआ है। इस सेक्‍टर में ग्रोथ का एक कारण यह भी है कि कोरोना के दौरान जहां सबसे ज्‍यादा जरूरत इसी सेक्‍टर की पड़ी वहीं लॉकडाउन में छूट भी मिली।
इसे भी पढ़ें: Career In Gaming: तेजी से बढ़ रहा गेमिंग करियर का स्कोप, ये हैं 6 बेस्ट ऑप्शन

आईटी सेक्टर (IT Sector)
कोरोना वायरस महामारी आने के बाद सबसे पहले और सबसे ज्‍यादा निगेटिव प्रभाव आईटी सेक्‍टर पर पड़ा, खासकर लॉकडाउन के बाद एक बार तो यह सेक्‍टर पूरी तरह बंद हो गया, लेकिन इसके बाद इस सेक्‍टर ने ऐसा रास्‍ता निकाला कि आज सबसे ज्‍यादा फायदे में है। आईटी कंपनियों का बेहतर तरीके से डिजिटल मॉडल को अपनाया जाना इसमें गेमचेंजर बनी, आईटी कंपनियों ने वर्क फ्रॉम होम मॉडल को भी सही तरह से लागू किया, जिससे उनके बिजनेस में गिरावट नहीं आई, वहीं इस दौरान उन्होंने एक आरे अपना खर्च कम किया, दूसरी ओर अपने क्लाइंट लगातार बढ़ाए। लॉकडाउन के दौरान भी उनके आर्डरबुक मजबूत होते रहे। लॉकडाउन में बंद पूरी दुनिया इन्फोटेक के भरोसे आ गई, जिसका फायदा सेक्टर को मिला। साइबर सिक्योरिटी की डिमांड ने भी इसमें भमिका निभाई। इस सेक्‍टर में भी वर्ष 2021 में औसत वार्षिक वेतन वृद्धि 7.3 फीसदी होने की उम्मीद है। इस क्षेत्र में नौकरी करने वाले पेशेवर अपने पिछले वेतन से 15 से 25 फीसदी की वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं।

सास, हेल्थ-टेक, एड-टेक और गेमिंग इंडस्ट्री में भर्ती में अचानक तेजी आई है। कई कंपनियों ने कोरोना के कारण भारत लौटने के इच्छुक भारतीय तकनीकी विशेषज्ञों की उपलब्धता का लाभ उठाया है। वहीं स्टार्ट-अप किसी भी स्थान से काम करने या हाइब्रिड मॉडल में काम करने के लिए सही प्रतिभा को लचीलापन प्रदान कर रहे हैं। जिससे यह सेक्‍टर लगातार ग्रोथ कर रहा है।
इसे भी पढ़ें: Career In IT Sector: अगर आपके पास हैं ये 6 स्किल्स, तो आईटी सेक्‍टर में बना सकते हैं अच्‍छा करियर

ई-कॉमर्स सेक्टर (E-commerce Sector)
कोरोना के दौरान हुए लॉकडाउन के कारण बाजार, दुकानें लंबे समय तक बंद रही, जिसके कारण लोगों की निर्भरता ई-कॉमर्स कंपनियों पर बढ़ गई। आज के समय में ऑनलाइन ग्रॉसरी और ई-रिटेल शॉप्स के लिए बड़े अवसर पैदा हुए। लॉकडाउन के दौरान ई-कॉमर्स को छूट मिलने के बाद इन कंपनियों ने अपनी नेटवर्क मजबूत करने का काम किया है। मैनपावर की कमी को इन्होंने अच्छे से हैंडल किया, हालांकि शुरू में सप्लाई चेन में आई रुकावट, सामानों की आवाजाही में अवरोध और स्टाफ की कमी के कारण कुछ दिक्कतें आईं, लेकिन बाद के महीनों में ई कॉमर्स कंपनियों ने रिकवरी की।

आज के समय में ई-कॉमर्स कंपनियों में वृद्धि ने लॉजिस्टिक्स और वेयरहाउसिंग में अधिक तकनीकी-सक्षम प्लेटफार्मों को भी मजबूत किया। जिसके कारण 2021 में इस क्षेत्र के लिए औसत वार्षिक वेतन वृद्धि 7.5 फीसदी का अनुमान लगाया गया है। वहीं इस क्षेत्र में नौकरी करने वाले नए लोग अपने वेतन में 16 फीसदी वृद्धि की उम्मीद कर सकते हैं। इस क्षेत्र में ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए सैकड़ों डिलीवरी स्टार्ट-अप और हाइपरलोकल स्टार्ट-अप भी आए हैं, जिससे जॉब्‍स में बूस्‍ट आया है।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!