Published On: Wed, May 12th, 2021

Pappu Yadav Controversy : जेल में बंद पप्पू यादव ने शुरू की भूख हड़ताल, लिखा- एंबुलेंस माफिया के खिलाफ मेरी लड़ाई जारी रहेगी


हाइलाइट्स

  • सुपौल की बीरपुर जेल में बंद पप्पू यादव ने शुरू की भूख हड़ताल
  • पप्पू यादव के ट्विटर हैंडल दी गई जानकारी
  • पप्पू ने ट्वीट में सरकार से लड़ाई जारी रखने का किया ऐलान
  • एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध- पप्पू यादव

सुपौल:
बाढ़ और कोरोना महामारी जैसी आपदा में दूसरों को मदद पहुंचाने, खाना खिलाने, ऑक्सिजन दिलवाने वाले पप्पू यादव खुद ही भूख हड़ताल पर हैं। सुपौल की बीरपुर जेल में बंद पप्पू यादव ने खाना खाने से इनकार कर दिया है।

जेल में भूख हड़ताल पर पप्पू यादव
पप्पू यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ये जानकारी दी गई है। पप्पू यादव के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में लिखा गया है कि ‘वीरपुर जेल में मैं भूख हड़ताल पर हूं। न पानी है, न वाशरूम है, मेरे पांव का ऑपरेशन हुआ था, नीचे बैठ नहीं सकता, कमोड भी नहीं है। कोरोना मरीज की सेवा करना,उनकी जान बचाना, दवा माफिया, हॉस्पिटल माफिया, ऑक्सीजन माफिया, एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध है। मेरी लड़ाई जारी है!’

पप्पू के लिए रात में खुली अदालत
उधर भारी सुरक्षा के बीच मंगलवार की रात लगभग 12:45 बजे पटना और मधेपुरा की पुलिस पूर्व सांसद पप्पू यादव को लेकर वीरपुर पहुंची। पुलिस के काफिले के पीछे पूर्व सांसद के सैकड़ों समर्थक और पार्टी कार्यकर्ता अपने वाहनों से चल रहे थे। हालांकि वीरपुर पहुंचने के बाद पप्पू यादव को लगभग 1 घंटे तक जेल के बाहर इंतजार करना पड़ा। पीछे से मधेपुरा पुलिस सभी जरूरी कागजात लेकर पहुंची तब रात लगभग 1:45 बजे सांसद पूर्व सांसद को जेल के अंदर भेज गया।
Pappu Yadav Controversy : पप्पू यादव के बेटे सार्थक ने पूछे सरकार से बड़े सवाल, ‘अस्पताल और एंबुलेंस की सच्चाई दिखाना जुर्म है क्या?’
बता दें कि जाप अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव को मंगलवार सुबह पटना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उन्हें पीएमसीएच के कोविड वार्ड में जाने को लेकर गिरफ्तार किया गया। इससे पहले पुलिस टीम मंदिरी स्थित उनके आवास पर पहुंची। यहां दो घंटे तक उन्हें रखा फिर गांधी मैदान थाने लेकर चली आई।

कुछ घंटे बाद पुलिस अफसरों ने कहा कि पप्पू यादव पर मधेपुरा में एक अपहरण और हत्या के 32 साल पुराने मामले में वारंट था। मधेपुरा पुलिस ने पटना पुलिस से संपर्क किया था। देर शाम मधेपुरा पुलिस एक डीएसपी के नेतृत्व में पटना पहुंची और उनको अपने साथ लेकर चली गई।

Bihar News : पप्पू यादव के लिए आधी रात को खुला कोर्ट, जानिए क्या हुआ पटना से सुपौल जेल तक

14 दिन की न्यायिक हिरासत में पप्पू यादव
जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव को गिरफ्तारी के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पहले उन्हें पटना में मंगलवार को पहले नजरबंद किया गया और फिर गिरफ्तार। पटना से गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव के समर्थकों के भारी विरोध के बीच उन्हें मधेपुरा ले जाया गया। रात के लगभग 10:50 बजे 30 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट लाया गया। पप्पू यादव की पेशी के लिए रात 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट को खोला गया।
Opinion : सावधान… बिहार में सुशासन है, कोरोना पीड़ितों के लिए चकाचक एंबुलेंस भी है! ज्यादा खुलासा कीजिएगा तो पप्पू यादव की तरह जेल जाइएगा
रात में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पप्पू यादव की पेशी
कोर्ट के कर्मचारी अपने कार्यालय पहुंचे जहां से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पप्पू की पेशी हुई। पेशी के दौरान उन्होंने कोर्ट के सामने अपनी बीमारी का भी हवाला बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की मांग की। पप्पू यादव की पेशी को लेकर बड़ी संख्या में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गयी थी, फिर भी सैकड़ों समर्थक रात के अंधेरे में जगह-जगह डटे दिखे।

न्यायिक दंडाधिकारी सुरभि श्रीवास्तव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पूर्व सांसद को रिमांड टू जेल का आदेश देते हुए 14 दिन के न्यायिक हिरासत में बीरपुर (सुपौल) जेल भेज दिया और बेहतर इलाज की व्यवस्था का भी आदेश दिया।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!