Published On: Wed, May 12th, 2021

Pappu Yadav Controversy : पप्पू यादव के बेटे सार्थक ने पूछे सरकार से बड़े सवाल, ‘अस्पताल और एंबुलेंस की सच्चाई दिखाना जुर्म है क्या?’


हाइलाइट्स

  • पप्पू यादव के बेटे सार्थक ने पूछे सरकार से बड़े सवाल
  • ‘अस्पताल और एंबुलेंस की सच्चाई दिखाना जुर्म है क्या?’
  • मेरे पिता को कोरोना काल में लोगों की मदद की सजा मिली- सार्थक
  • 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल में हैं पप्पू यादव


मधेपुरा/पटना:

JAP सुप्रीमो पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर सत्ताधारी पार्टियां तक सवाल उठा चुकी हैं। इसी बीच पप्पू यादव के बेटे सार्थक रंजन का भी एक वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में वो काफी भावुक दिख रहे हैं। बुधवार को सार्थक रंजन ने खुद पप्पू यादव के फेसबुक पेज से लाइव किया और कई बातों को जनता के सामने रखा। उन्होंने बताया कि किस तरीके से उनके पिता को प्रताड़ित किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने बिहार के लोगों को एकसाथ आने की भी अपील की और कहा कि पप्पू यादव एक इंसान ही नहीं बल्कि एक जुनून हैं।

पप्पू यादव के बेटे ने की अपील
पप्पू यादव के बेटे सार्थक रंजन ने कहा कि ‘मेरे पिता अकेले हैं। कल 9 बजे से लेकर आज सुबह 3 बजे तक मेरे पिता के साथ एक मुजरिम के तरह बर्ताव किया गया है। लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि जुर्म है क्या? हॉस्पिटल की सच्चाई दिखलाना जुर्म है क्या? या जरूरतमंद लोगों की मदद करना जुर्म है? जो एम्बुलेंस लोगों के काम आ सकते थे, उसे एक कैंपस में खड़ा कर के रखा गया।’
Pappu Yadav Arrested : मधेपुरा में पप्पू यादव के लिए आधी रात में खुला कोर्ट, कहा- मेरे खिलाफ बीजेपी ने रची साजिश
पप्पू यादव के बेटे ने आगे कहा कि ‘अपना परिवार छोड़ कर उन्होंने बिहार के हर एक परिवार के लिए काम करना सही समझा। हर एक परिवार की एक भी पुकार अनसुनी न जाये, उनका बस यही एक मकसद है। मैं अक्सर देखता था कि मेरे पापा कोविड वार्ड में जाते थे। मुर्दाघर में जाते थे। लोगों के पास भीड़ में जाकर उन्हें भोजन देते थे। कोई उन्हें गले लगाकर रोता था। वह हर किसी की मदद करते थे। आज वो अकेले बीरपुर में हैं। वह पूरी रात नहीं सोये हैं. जहां उन्हें रखा गया है। वह बिल्डिंग किसी भी समय टूटने को है, वो जर्जर है।’

14 दिन की न्यायिक हिरासत में पप्पू यादव
जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव को गिरफ्तारी के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पहले उन्हें पटना में मंगलवार को पहले नजरबंद किया गया और फिर गिरफ्तार। पटना से गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव के समर्थकों के भारी विरोध के बीच उन्हें मधेपुरा ले जाया गया।

Pappu Yadav : पप्पू यादव को ले जा रही पुलिस के काफिले पर हाजीपुर में हमला, गाड़ी पर चढ़ गए जाप समर्थक

रात के लगभग 10:50 बजे 30 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट लाया गया। पप्पू यादव की पेशी के लिए रात 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट को खोला गया।
Opinion : सावधान… बिहार में सुशासन है, कोरोना पीड़ितों के लिए चकाचक एंबुलेंस भी है! ज्यादा खुलासा कीजिएगा तो पप्पू यादव की तरह जेल जाइएगा
रात में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पप्पू यादव की पेशी
कोर्ट के कर्मचारी अपने कार्यालय पहुंचे जहां से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पप्पू की पेशी हुई। पेशी के दौरान उन्होंने कोर्ट के सामने अपनी बीमारी का भी हवाला बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की मांग की। पप्पू यादव की पेशी को लेकर बड़ी संख्या में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गयी थी, फिर भी सैकड़ों समर्थक रात के अंधेरे में जगह-जगह डटे दिखे।

न्यायिक दंडाधिकारी सुरभि श्रीवास्तव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पूर्व सांसद को रिमांड टू जेल का आदेश देते हुए 14 दिन के न्यायिक हिरासत में बीरपुर (सुपौल) जेल भेज दिया और बेहतर इलाज की व्यवस्था का भी आदेश दिया।

vlcsnap-2021-05-12-11h03m36s767



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!