Published On: Sun, Sep 5th, 2021

Teachers day story: गोरखपुर में की अनीता मैम…कोरोना काल में स्कूल बंद हुए, पर उनका पढ़ाना नहीं…जानें गांव के गरीब बच्चों तक कैसे पहुंचाई शिक्षा


अनुराग पाण्डेय, गोरखपुर
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक ऐसी भी टीचर हैं जिनके सभी बच्चों के साथ शिक्षा विभाग भी फैन है। कोरोना काल में जब एक समय स्कूल बंद थे और हर कोई खुद को सुरक्षित करने में लगा हुआ था, तब प्राइमरी स्कूल की टीचर अनीता श्रीवास्तव बच्चों को पढ़ाने और उनके घरवालों को अवेयर करने उनके घर तक पहुंची। यही नहीं कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कई क्रिएटिव कंटेंट भी तैयार किए जिसे मोबाइल में डाउनलोड भी नहीं करना पड़ता था।

गोरखपुर में स्थित प्राइमरी स्कूल सरैया में अनिता श्रीवास्तव बातौर प्रधानाध्यापक अपनी ड्यूटी पूरी इमानदारी और निष्ठा से निभाती हैं। स्कूल से घर आकर भी वो बैठती नहीं है, वो बच्चों को किस मैथर से आसानी से समझ में आ जाए इस पर अपना किएशन करना शुरू कर देती हैं।

इस तरह ऑनलाइन क्लास के लिए अरेंज कराए मोबाइल
कोरोना काल में जब स्कूल बंद हुए तो उनको बच्चों की चिंता सताने लगी। रिस्क के बावजूद वो हिम्मत बनाकर बच्चों से मिलने कभी भी उनके घर निकल जाया करती थीं। ज्यादातर बच्चों के पास मोबाइल नहीं था, तो इसके लिए वो उस इलाके के सम्पन्न लोग या प्रधान से सम्पर्क कर उनसे एक घंटे के लिए बच्चों की पढ़ाई में मदद करने का निवेदन कर उन्हें तैयार करतीं। गरीब तबके के बच्चों के परिजनों को भी पढ़ाई का महत्व समझाना उन्हें बच्चे को पढ़ाने के लिए अवेयर करना अनिता का डेली का काम था।

AssignmentImage-466887874-1630822338

अमेरिका तक अनिता के नाम का बज चुका है डंका
अनिता ने कोरोना काल में सचिन तेंदुलकर, महेन्द्र सिंह धोनी और मिल्खा सिंह जैसे खिलाड़ियों के छोटे-छोटे वीडियो तैयार किए। वीडियो में खिलाड़ी का परिचय और उसके संघर्ष की कहानी होती थी। अनिता बताती है कि संघर्ष बच्चों को इसलिए बताना जरूरी है क्योंकि बच्चे ये सोचते हैं कि जिनके पास पैसा होता है वही बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं। जबकि अधिकत्तर खिलाड़ी जमीन से ही संघर्ष करके उच्च स्थान हासिल करते हैं।

रोनाल्डो का भी बनाया वीडियो

अनिता का बनाया गया वीडियो अमेरिका में रहने वाले अनय को खूब पंसद आया। उस बच्चे ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने पसंदीदा फुटबाल खिलाड़ी क्रिस्टोनो रोनाल्डो की वीडियो स्टोरी बनाने की डिमांड कर दी। जिसके बाद टीचर ने बच्चे की डिमांड पर रोनाल्डो का वीडियो बनाकर उसे भेजा था। बाद में बच्चे ने भी टीचर को सोशल मीडिया पर थैंक्यू मैम लिखकर भेजा।

अनिता को मिल चुके हैं कई अवॉर्ड
अनीता 2018 में राज्य स्तरीय कहानी सुनाओ प्रतियोगिता की विजेता बनीं। 2019 में राज्य स्तरीय आईसीटी जिले स्तर पर विजेता बनीं। जिले स्तर पर भी कई अवॉर्ड इनकी झोली में आए हैं। इनके बनाए वीडियो को शिक्षा विभाग हर जिले के स्कूल में वितरित कर चुका है।

अनिता का मानना है कि स्कूल छोटा बड़ा नहीं होता है, हर बच्चे के अंदर कुछ ना कुछ टैलेंट जरूर होता है एक शिक्षक इस बात को अच्छे से समझ सकता है। समझने के साथ ही अगर शिक्षक बच्चे पर थोड़ा ध्यान मार्गदर्शन प्रदान कर दे तो उसका भविष्य उज्जवल हो जाता है।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!