Published On: Mon, Aug 23rd, 2021

UP news: वेस्ट यूपी में लखपति भी ले रहे गरीबों का सस्ता राशन, अलीगढ़ में पकड़े गए 150 मामले, होगी जांच


हाइलाइट्स

  • उत्तर प्रदेश में गरीबों के राशन में हो रहा घोटाला
  • अंगूठे की छाप के बाद मिल रहा राशन, फिर भी हो रहा घालमेल
  • कई लखपती भी ले रहे हैं गरीबों को मिलने वाला गेंहू और चावल
  • अलीगढ़ में 150 मामले सामने आने के बाद मचा हड़कंप

अलीगढ़
वेस्ट यूपी के कई जिलों में लखपति लोगों के भी सरकारी दर पर सस्ता राशन खरीदने का लाभ लेने की जानकारी शासन को पहुंची हैं। इसमें किसान भी शामिल बताए गए हैं। किसानों और दूसरे कार्डधारकों की अब जांच होगी।

अकेले अलीगढ़ में करीब 150 ऐसे कार्डधारक सामने आए हैं। जिला पूर्ति अधिकारी राजेश कुमार सोनी ने बताया कि कई लोग घालमेल कर फर्जी आय प्रमाण पत्र बनवा लेते हैं। इनकी अब जांच की जाएगी। अलीगढ़ में इस तरह के कई मामलों की पहचान की गई।

हर महीने मिलता है 5 किलो राशन
आपको बता दें है कि गरीबों को सरकार की तरफ से हर महीने प्रति यूनिट यानी कार्ड पर दर्ज प्रति व्यक्ति के हिसाब से 5 किलो राशन दिया जाता है। अंत्योदय राशनकार्ड धारकों को 35 किलो राशन प्रति कार्ड पर दिया जाता है।

यह है पात्रता
गृहस्थी कार्ड धारकों की पात्रता की शर्त है कि शहरी क्षेत्र में तीन लाख प्रतिवर्ष से अधिक आय और ग्रामीण क्षेत्र में दो लाख से अधिक की प्रतिवर्ष आय वाले लोगों को अपात्र माना जाएगा।

बनवाते हैं फर्जी आय प्रमाणपत्र
जिला पूर्ति अधिकारी राजेश कुमार सोनी के मुताबिक कई लोग घालमेल कर फर्जी आय प्रमाण पत्र बनवा लेते हैं, इनकी अब जांच की जाएगी। अलीगढ़ में करीब 150 किसानों का पता चला है जिन्होंने अपात्र होकर इस योजना का लाभ लिया हैं। दरअसल, धान खरीद की एवज में सरकार ने इस बार सीधे किसानों के खाते में धनराशि ट्रांसफर की थी।

मेरठ और बदायूं में मिली शिकायतें
शासन ने अलीगढ़ के जिन 150 किसानों को चिह्नित किया है। उनको धान खरीद की एवज में सरकार ने तीन-तीन लाख रुपये से अधिक का भुगतान किया है। इसी तरह मेरठ और बदायूं में शिकायतें हैं।

ठेलों में बिकता मिला राशन
मेरठ में बड़ा राशन घोटाला हो चुका हैं, लेकिन उसके बाद भी अपात्र यानी लखपति भी गरीबों का राशन हासिल करने में पीछे नहीं हैं। मेरठ में तो हाल में ही गरीबों का राशन ठेलों पर बिकता पाया पुलिस ने पकड़ा था। शिकायत वाले जिलों के अलावा बाकी जिलों में भी राशन वितरण और पात्र अपात्रों की जांच कराना आपूर्ति विभाग ने तय किया हैं।

Untitled-1

सांकेतिक चित्र



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!