Published On: Sat, Sep 11th, 2021

WhatsApp चैट बैकअप पर लगेगा ताला और यूजर के पास होगी उसकी चाबी, बेहद कमाल का है यह नया फीचर


हाइलाइट्स

  • WhatsApp का नया फीचर
  • अब कंपनी यूजर्स को देगी Key
  • चैट बैकअप हो जाएगी एंट-टू-एंड एनक्रिप्शन

नई दिल्ली। Facebook के स्वामित्व वाले इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने यूजर्स की निजी चैट की प्राइवेसी को बनाए रखने के लिए एक नई सर्विस शुरू की है। WhatsApp के प्रमुख विल कैथकार्ट ने घोषणा कर बताया है कि WhatsApp चैट बैकअप अब एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड (E2E) होगा। WhatsApp चैट की सुरक्षा और गोपनीयता के मामले में यह एक प्रमुख डेवलपमेंट है क्योंकि Google ड्राइव या iCloud में बैकअप अनएन्क्रिप्टेड थे और इन्हें थर्ड-पार्टी स्नूपिंग द्वारा इन्हें हैक किया जा सकता था। तो चलिए जानते हैं इस बारे में।

जानें WhatsApp के नए फीचर के बारे में:

WhatsApp चैट हमेशा E2E एन्क्रिप्टेड होते थे। इसका मतलब है कि केवल मैसेज भेजने वाला और रिसीव करने वाला ही इन्हें पढ़ सकता है। हालांकि, जिन चैट का आप Google ड्राइव या Apple iCloud पर ऑटोमैटिकली बैकअप लेते थे वे एनक्रिप्टेड नहीं थे। इसलिए, कोई भी थर्ड पार्टी आपके मैसेजेज को पढ़ने के लिए इन बैकअप फाइल्स की जासूसी कर सकता था। लेकिन अब WhatsApp इसे बदल रहा है और अब चैट बैकअप के लिए भी एन्क्रिप्शन का विस्तार कर रहा है।

WhatsApp Google ड्राइव और Apple iCloud पर चैट बैकअप कैसे सुरक्षित कर रहा है?

अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में, WhatsApp ने बताया है कि E2E बैकअप को इनेबल करने के लिए WhatsApp ने एन्क्रिप्शन Key स्टोरेज के लिए एक नई प्रणाली बनाई है। यह iOS और एंड्रॉइड दोनों के साथ काम करती है। E2E बैकअप सक्षम होने के साथ, बैकअप को यूनीक, रैंडमली जनरेटेड key के साथ एन्क्रिप्ट किया जाएगा। लोग key को मैन्युअल रूप से या यूजर पासवर्ड के जरिए सुरक्षित करना, में से किसी भी विकल्प को चुन सकते हैं। जब कोई पासवर्ड का विकल्प चुनता है, तो Key को बैकअप Key Vault में स्टोर किया जाता है जो हार्डवेयर सिक्योरिटी मॉड्यूल (HSM) नामक एक कंपोनेंट के आधार पर बनाया जाता है।

एन्क्रिप्टेड WhatsApp चैट बैकअप को कैसे एक्सेस करें:

WhatsApp के अनुसार, जब अकाउंट यूजर अपने बैकअप को एक्सेस करना चाहे तो वो अपनी एनक्रिप्शन Key को वॉल्ट के साथ एक्सेस कर सकता है। यूजर अपने निजी पासवर्ड का इस्तेमाल कर HSM-आधारित बैकअप Key Vault से अपनी एन्क्रिप्शन Key को रिट्राइव करने और अपने बैकअप को डिक्रिप्ट करने के लिए कर सकते हैं।

HSM Key क्या है और यह कितनी सुरक्षित है:

WhatsApp का दावा है कि HSM-आधारित बैकअप Key Vault पासवर्ड वेरिफिकेशन प्रयासों को लागू करने का काम करेगी। साथ ही इसे एक्सेस करने के लिए लिमिटेड संख्या में असफल प्रयासों के बाद Key के परमानेंटली एक्सेस बंद करने का काम करेगी। WhatsApp को केवल यह पता चलेगा कि HSM में एक Key मौजूद है। यह Key क्या है यह कंपनी खुद नहीं जान सकेगा।

चैट बैकअप कैसे सुरक्षित है?

चैट बैकअप को 64-डिजिट एन्क्रिप्शन Key का इस्तेमाल कर एंड-टू-एंड एन्क्रिप्ट किया जा सकता है। बैकअप को पासवर्ड से भी सुरक्षित किया जा सकता है। इस स्थिति में एन्क्रिप्शन Key को HSM आधारित बैकअप Key Vault में सेव किया जाता है।

अपने पुराने WhatsApp चैट बैकअप को कैसे देखें और प्राप्त करें:

  • अपने चैट बैकअप को दोबारा एक्सेस करने के लिए आपको इन स्टेप्स को फॉलो करना होगा।
  • आपको अपना पासवर्ड दर्ज करना होगा जो एन्क्रिप्ट किया गया है। इसके बाद बैकअप Key Vault से इसे वेरिफाई करना होगा।
  • जब यह वेरिफाई हो जाए तो बैकअप Key Vault को WhatsApp क्लाइंट को वापस भेज देगा।
  • जब यूजर के पास Key होगी तो वो अपने बैकअप को डिक्रिप्ट कर पाएगा।



Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

  • A WordPress Commenter on Hello world!